• Donate
Kumbh Sahayog 2019              Volunteer Internship at Kumbh Prayagraj
Health Benefits of Pineapple
  12 Apr'2018

चमत्कारी अनन्नास
आयुर्वेद के ग्रंथों में अनन्नास के  गुणों की व्यापक रूप से चर्चा की गई है और इसके सेवन को अत्यधिक फायदेमंद और बलदायक बताया गया है। अनन्नास के पौधों में जनवरी-फरवरी में फल लगना आरम्भ होता है। इसे नवम्बर तक मार्केट में फलों की दुकानों पर सजे देखा जा सकता है। अनन्नास बतौर फल खाने के अलावा रसए शर्बत एवं मुरब्बा के रूप में भी सेवन किया जाता है।

  1. अनन्नास मधुर, तृप्तिकारक व स्फूर्तिदायक फल है। इसमें कैल्सियम, फाइबर, ग्निशि और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह पीलिया, उच्च रक्तचाप, यकृत दोष आदि रोगों में बड़ा लाभकारी है।
  2. इसमें ब्रोमेलिन नामक एंजाइम भी पाया जाता है, जो प्रोटीन को पचाने, ब्रोंकाइटिस, एब्सेस न्यूमोनिया, गुर्दे के संक्रमण आदि में कार्य करता है। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। इससे गले को ठंडक मिलती है साथ ही गले के रोगों से बचाव होता है।
  3. यदि पेट में अजीर्ण  हो तो पके अनन्नास के छोटे-छोटे टुकड़े करके सेंधा नमक और कालीमिर्च का चूर्ण लगाकर खाने से लाभ मिलता है। इस प्रकार अनन्नास ग्रहण करने से पेट के कृमि हफ्ते भर में निकल जाते हैं। जिन बच्चों को पेट में अक्सर कृमि हो जाते हैं, उन्हें उक्त प्रकार से अनन्नास अवश्य देना चाहिए।
  4. अस्थमा के रोगियों को सुबह-दोपहर  खाली पेट अनन्नास खाना चाहिए ।
  5. अनन्नास में रक्त के हर दोष को दूर करने की क्षमता है, इसीलिए इसका सेवन करने व लेप लगाने से त्वचा में निखार आता है।
  6. शोधों के मुताबिक दिन में 3 बार अनन्नास खाने से बढ़ती उम्र के साथ कम होती आंखों की रोषनी का खतरा कम हो जाता है।
  7. अनियमित माहवारी हो, तो इसके रस का नियमित सेवन करने से माहवारी सामान्य हो जाती है।

0 Comment

Sort by