Kindly make your humble Donations and become a part of this pious cause.
NARAYAN SEVA SANSTHAN

A non-profit service oriented voluntary registered organization committed for the all round development
& rehabilitation of the disabled-particular the polio afflicted & those born with disabilities.

Back

After an Accident He Loose One Leg and Now He is Dance Teacher with Artificial Leg

पैर लगने के आठ दिन बाद ही बन गया नृत्य शिक्षक

हौसले और आत्मविश्वास की ताकत पर ही पुरी दुनिया कायम है। डुंगरपूर के आसपुर निवासी 21 वर्षिय राहुल भोई ने कभी सोचा नहीं था कि करीब डेढ़ साल पहले हुई एक सड़क दुर्घटना में पैर गंवा देने के बाद भी आज सहजता से चल पाएगा। लेकिन अपनी दृढ़ ईच्छा शक्ति और नारायण सेवा संस्थान की मदद से राहुल आज चलने फिरने के साथ ही एक विद्यालय में नृत्य शिक्षक बन मिशाल कायम कर रहा है। 
राहुल बताता है कि वह बचपन से एक डांसर था। समय के साथ उसकी रूची डांस में और अधिक बढ़ गई, मगर सारी उम्मीदें धराशायी तब हो गई जब डेढ़ साल पहले पीछे से आते हुए एक तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आने से उसका एक पैर देह से अलग हो गया। लगा जैसे सारे सपने बिखर गए हो। सारी उम्मीदें खत्म हो गई थी। अपने स्तर के तमाम प्रयासों के बाद भी उसे कोई ठोस परिणाम नजर नहीं आया। डुंगरपूर और उदयपुर के कई हॉस्पीटल में उसका ईलाज चला लेकिन स्थिति जस की तस बनी रही। इस बीच राहुल ने नारायण सेवा संस्थान की मदद ली जहां उसे प्रशिक्षित डॉक्टर के द्वारा निशुल्क मॉड्यूलर लिम्ब लगाया गया। संस्थान की निदेशक वंदना अग्रवाल बताती है कि मॉड्यूलर लिम्ब प्रत्यारोपण के ठीक आठ दिन बाद ही राहुल आसपुर की एक स्कुल में डांस टीचर बन गया। खास बात ये है कि राहुल अपने परिवार में एकमात्र कमाऊ सदस्य है और अपने इसी कृत्रिम पैर की मदद से वो अपने पूरे परिवार का भरण पोषण कर रहा है। 

TOP